Kutchi Maadu Rotating Header Image

अध्धा


🌹अध्धा🌹
पग ते व्यारे चाञ करे,
एनजो नालो अध्धा…
गाल गाल मे वेवार समजाय,
एनजो नालो अध्धा…
पांजो सुख दु:ख नेरे,
एनजो नालो अध्धा…
छडी खणी छांभ कढे,
एनजो नालो अध्धा….
हणी करे ने पोय पस्ताय,
एनजो नालो अध्धा…
पोय पासेमें व्यारे सरचाय,
एनजो नालो अध्धा….
पोय चाञ से मथे हथ फेरे,
एनजो नालो अध्धा…..
अध्धा वगर धोनिया अधुरी
*🌹Happy Fathers Day

धूणी रमाय गिन

धूणी रमाय गिन ध्यानजी,
कचरो बरी वेंधो कुडाईजो.
सचाई अची वेंधी सामें,
नें काठ निकरी वेंधो कुपाईजो.
“अगम”

सदाय ताजा डसाईंधल

जय मां आसापुरां

महाशिवरात्री जी वधांईयू

कडॅक अचींजा

कडॅक अचींजा
*~~~~~~~~*

प्रेमसे नोतरो जली ,कडॅक अचींजा
हूंभसे नोतरो जली, कडॅक अचींजा

वरे सजो रखातो, जाध करीजा
चांतो सामे हली, कडॅक अचींजा

बाना हलधा न कीं,मूधत डियूं वडी
मन करे ज भली, कडॅक अचींजा

भो भो ने भले भले, कडॅ म कईजा
कढो म गाल खिली, कडॅक अचींजा

भरी रखीयूं जाधूं, कांत केनीरीयूं
बारा कढीबो मिली, कडॅक अचींजा

*कांतिलाल कुंवरजी सावला कांत तुमडी*

कच्छी चॉवक : धाबा सॅन करेजी सग़ती वॅ से हॉरी रमॅ

कच्छी चॉवक- ४६ 👍

धाबा सॅन करेजी सग़ती वॅ से हॉरी रमॅ.

माईक्रोफिक्सन
———————-

नॅर ईशा, हीं धिरजी वेनीयें
त स्केटिंग न सिखाबो.तॉजी
जॅडल आकांक्षा के नॅर,सिखॅती
छणॅती,उभी थीयॅती, नीरा
चकामा ने ढीमणा पेंता, हथ
पग छोलजेंता,तांय स्केटिंग
सिखॅजी जिधके छडे नती.
सरीरतें घा पोंधा सेधवाईयें
सें सोंजा थिई वेंधा. छणधो,
उठींधो ने धोड़धो,ऊजसिखी
सगंधो. सरीरतें धाग पोंधा से त मटी वेंधा, ई तूं सॅन न
करी सगॅं त सवारेनूं क्लास
– में म अचीज. आकांक्षा
जॅडी हींमत रखनीयें त तॉके
कोय अटकाई न सगंधो.
अज काउन्चर तानूं तोजी
फी पाछी मिलंधी. सॉरी
ईशा ! तॉकेज निकी करेजो
आय क स्केटिंग सिखॅजी
जिध तॉमें कितरी आय ?

ब्ये डीं नों वरॅजी ईशा टाईट
फीट स्केटिंग ड्रेस ने बूट साथे
कलासजे हॉलमें उगेजे छ
वगेंमें हाजर वी.

अठ मेणे पोय

अज स्केटिंग शो जे फिनालेमें ईशाके रजत मॅडल
मुख्य मंत्री गलेमें पेरायांते
तॅर इनजा सर मिणीया
वधू खुस हूआ.

: भानुबेन

आयो अज नउं वरे

आयो अज नउं वरे
(ढाळ- झीणो झीणो उडे रे गुलाल )
खिली खिली मिली गिनूं पां,
आयो अज नउं वरे
बख विजी मिली गिनूं पां,
आयो अज नउं वरे…

सतोतेर विईने , अठोतेर आवई
विक्रम संवतजी, साल भधलाई
डटो नउं लगाई गिनूं पां,
आयो अज नउं वरे

सूकनमें मीठो, उथी गिनूतां
भांक फूटे ने , सड सूणूंता
मीठो गिनी वधाई गिनूं पां,
आयो अज नउं वरे

गडा भरीने , हुंभ ठलायूं
हाल पुछीने , हेत वतायूं
हींयारी से भिंजाई गिनूं पां
आयो अज नउं वरे

संसार चकीमें, अटो पीसायूं
कांत आतमके, अना भीसायूं
गुरु वाणी पिराई गिनूं पां
आयो अज नउं वरे

शुभ डीयारी ! साल मुबारक!

मिणींके शुभ धनतेरस