Kutchi Maadu Rotating Header Image

कच्छडो जाध अचे

काफी : कच्छडो जाध अचे
********************
असांके कच्छडो जाध अचे,
वसों असीं भलें पार परंले, सा वतन के सिके – टेक

धींगा संभरे धण धोंरीजा,भलप तां छल भचे,
गोईयें मईयेंजा खीर मिठडा, माडुडा पी मचें. असां के …

होला, पारेला, कबरूं ,कागडा,कोयलडियुं जित कूछें,
शोभतां सुरखाब मुल्लकजी, मोर कळायल नचें. असां के…

वड पीपरी ने जार आमरी, नमुरियें निम लचें,
मिठडो मेवो मुल्लकजो, जित पीरू लाल पचें. असां के…

लुखुं लगें जित मींयडा मोंघा, धोम आकरा धुखें,
वा वंटोळा चडें आकाशें उत्तरजा साय अचें. असां के …

जण जोरूका पट बरूका, बोली बाबाणी रुचे,
भेनरुं, भावर,हेत भरेला,जीगर असां के जचें. असां के  …

पार पुजी को हाल पुच्छे,जिंय नीरधारां मच्छ लुछें,
मावो चय मीठी तवार तनमें, मातृभूमिजी मचे.  असां के…

: मावजी जेराम भानुसाली (मास्तरजी)
facebook share

Leave a Reply