Kutchi Maadu Rotating Header Image

भॅणूं

वीर पसली जे डीं ही सुंदर कच्छी गीत
भॅणूं
***
हूंधो भवांतरे जो लॅणूं !
निका भला कीं जुड़ें भाऐं के जिजल जॅड़युं भॅणूं!

सगा हजारुं, सगाईयुं लख, गडजी गजें करोडुं,
लुछें विठयुं प कुछें न लिखपण ! भॉरप जो नां भॅणूं !

भांऐं भांऐं के भेरो के ला भुछड़युं थींन्युं भेणूं,
जिगर विगर की जडी़ सगॅ को ? रत जयुं डिई डिई रॅणूं !

जिरकलडी़ के जांपलीऐनुं जचॅ न बारा विनणूं,
पखा छडी परडेस विने त्युं तांय कुरेला , भॅणूं !

समजू च्यां, संभारी रखजा, सूंवालीयुं अईं भॅणूं,
धूऐ विगर पण धुखणुं कीं से, क्यांनुं सिखंधो छॅणूं !

कितरीयुं कसल्युं, कितरीयुं पसल्युं, कितरो गिनणूं डीणूं,
सुतर राखड़युं, उंतर लागणयुं, लसॅ भला कीं लॅणूं ? !

: डॉ विसन नागडा
गडजी : मिली,भेटी . रॅण : संधाण
facebook share

2 Comments

  1. Jay says:

    कीं अयॉ कीर्तिभा
    कच्छी कविताऊं, लेख,केहवत ने क्यो प साहित्य अईं कच्छी माडु साईट ते वांचिंधा ही मडे पांजे कच्छी कवियें जे लखेल साहित्यजे अमूल्य खजाने मेजा आए. भॅणूं ही डॉ विसन नागडा लिखीत काव्यसंग्रह साओ मिजा आए. आं जेडा पांजा कच्छी माडुज असांके ईमेल द्वारा लेख,कविता हलाईंधा रेंता जे असीं आं सामे रजु करयूंता.

    आंके प हॅडा सारा कच्छी लेख,कविताऊं मलें त जरुर असांके contact@kutchimaadu.com ते ईमेल करीजा.

    आभार
    जय
    कच्छी माडु टीम

  2. kirti maheshwari says:

    vah vah mitha a gaya t kutchi boli jo khajano ay anja no.khapeta t merbhani kare anja mobile ja no.sms karja aa vate thi jannu ay aie hi mide keda thi goti achota 9833170333 kirti muju na ay

Leave a Reply