Kutchi Maadu Rotating Header Image

माडु मॉभत वारा

कच्छडो मुंजो कामणगारो कच्छ कलाधर धाम आय
त्रे मेर मेरामणजी मस्ती चॉथे रण विश्राम आय
माडु हडांजा मॉभतवारा धलमें ईनिजे राम आय
लखलाखेणो अतित असांजो सोनडे मढेली साम आय
हाजीपीर पच्छमतो नॅरे मथे दत् जो ठाम आय
आसापुरा करेती मांडी सजदोने प्रणाम आय
दोस्त दिलबर दगो न करीयें , दिलमे प्रेमजो जाम आय
कच्छ वारा अैं कच्छ में अचॉ धंधा हॅडा बेफाम आय
सॉनजी संघर से बंधेलो धिल हेडा गुलाम आय
मॉज में हर कॉम वसॅती ही सभर जो ईनाम आय
अन्न कपडें अैं दुःखी न थींधा चॅ गुरू घनस्याम आय
: कवि जगदीस गोर
facebook share

Leave a Reply