Kutchi Maadu Rotating Header Image

तान में ने तान में !

महेफिल मे रंगत विइ वघी , इं तान में ने तान में !
ने रात व्यामी विइ सजी , इं तान में ने तान में !
इं तां घाँली वाटींधे भी, यार ! केंके ती अचे ;
व्यासीं खटी ही रांघ अजजी, तान में ने तान में !
यारें जी संगत जो चडी़ व्यो , अइं पोछाँ म ऐडो कैफ;
हेकला मस्ती में झुमों , तान में ने तान में !
केर हुवासीं ? कीं मिल्यासीं ? प्यार माण्यो कीं असीं ?
रिइ न सुघ कीं भी असांके , तान में ने तान में !
पंध ओखो हो भलें ने , डिस प न्यारइ न कडें ;
‘ अश्क ‘ मन्झील ते पुगासीं, तान में ने तान में !
: माधव जोशी “अश्क”
facebook share

2 Comments

  1. Jay says:

    केनुभा आंके वांचे करे सारो लगो इज असांजो ध्येह आय!

    जय
    कच्छी माडु

  2. KENUBHA M JADEJA says:

    DEAR
    SIR
    VERY FINE तान में ने तान में ! GOOD

    KENUBHA M JADEJA

    MUMBAI 9324566574

Leave a Reply